pradhan mantri garib kalyan Ann yojana

PM Garib Kalyan Ann Yojana: क्या है PM गरीब कल्याण अन्न योजना?

कोरोना वायरस के कारण पैदा हुए आर्थिक संकट के दौरान मार्च में केंद्र सरकार ने 26 मार्च 2020 को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के अंतर्गत प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना की घोषणा की थी। शुरू में,यह योजना अप्रैल-जून 2020 से शुरू की गई थी, जिसमें केंद्र की सरकार ने गरीबों के लिए 1 लाख 70 हजार करोड़ रुपए के राहत पैकेज का ऐलान किया है।

गरीब कल्याण अन्न योजना के अंर्तगत सरकार देश के 80 करोड़ से अधिक गरीब परिवारों को राशन कार्ड में लिखी गयी सदस्यों की संख्या के आधार पर प्रति व्यक्ति 5 किलो अनाज(गेहूं/चावल) और प्रति परिवार एक किलो दाल मुफ्त उपलब्ध करा रही है।

6 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों- पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, चंडीगढ़, दिल्ली और गुजरात को गेहूं आवंटित किया गया है और शेष राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को चावल उपलब्ध कराया गया है।

इस योजना के तहत अप्रैल,मई और जून तक मुफ्त राशन देना का प्रावधान था,अब इस अवधि को बढ़ा कर नवंबर 2020 तक कर दिया गया है। इसके अतिरिक्त राशन कार्ड धारक पहले से मिल रहे मौजूदा कोटे का प्रति व्यक्ति 5 किलो गेहूं या चावल पैसे देकर राशन दुकान से ले सकेगा। यह खाद्य सामग्री राशन के अलावा होगी और यह फ्री दी जाएगी। इससे यह सुनिश्चित होगा कि देश में कोई भूखा न सोए।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजन के हक़दार कौन कौन होंगे:

*जो परिवार ग़रीबी रेखा के नीचे या Antyodaya Anna Yojana (AAY) और Priority Households (PHH) श्रेणि के अंतर्गत आने वाले परिवार इस योजना के योग्य हैं।

 * पीएचएच की पहचान राज्य सरकारों/केंद्र शासित प्रदेश के प्रशासनों द्वारा विकसित मानदंडों के अनुसार होगी। एएवाई परिवारों की पहचान राज्यों/केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित मानदंडों के अनुसार होगी।

*विधवाओं या बहुत बीमार व्यक्तियों, विकलांग व्यक्तियों, 60 साल या उससे अधिक आयु के व्यक्तियों, सिंगल महिलाओं या सिंगल पुरुषों जिनका कोई परिवार नहीं है,उनके लिए सामाजिक सहायता या रख रखाव/पोषण का आश्वासन दिया जाता है ।

*सभी प्राचीन आदिवासी परिवार के योजना के हक़दार है।

* भूमिहीन कृषि मजदूर, सीमांत किसान, ग्रामीण कारीगर/शिल्पकार जैसे कुम्हार, बुनकर, लोहार, बढ़ई, झुग्गी-झोपड़ियां और ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों में कुली, कुली, रिक्शा चालक, हाथ ठेला खींचने वाले, फल और फूल विक्रेता, सर्प चमर, कचरा बीनने वाले, मोची, बेसहारा और अन्य समान श्रेणियों जैसे अनौपचारिक क्षेत्र में दैनिक आधार पर अपनी आजीविका के लिए रोजगार कमा रहे हैं ।

* एचआईवी पॉजिटिव व्यक्तियों के परिवार जो गरीबी रेखा से नीचे रह रहे है वह के सभी इस योजना के हक़दार है।

प्रधानमंत्री गारेब कल्याण अन्ना धन योजना की अन्य सुविधाएं

*गरीब परिवारों को 5 किलो गेंहू/चावल प्रति व्यक्ति हर माह मिलता है,इसके आलावा इस योजना के तहत 5 किलो गेंहू/चावल प्रति व्यक्ति और 1 किलो दाल प्रति परिवार नवंबर के अंत तक मुफ्त दिया जायेगा।

*मेडिकल हेल्थ केयर वर्कर्स को तीन महीने के लिए उनके लिए मेडिकल इंश्योरेंस कवर के रूप में 50 लाख रुपये का बीमा होगा। उम्मीद है कि हम इस अवधि में वायरस को नियंत्रित करने में सक्षम होंगे: ऐसा वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है।

*भवन निर्माण और कंस्ट्रक्शन से जुड़े लगभग 3.5 करोड़ श्रमिकों के कल्याण के लिए 31,000 करोड़ के उपयोग की मंज़ूरी केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों को दी है। कोरोना वायरस से जंग के लिए मेडिकल टेस्‍ट, स्‍क्रीनिंग और अन्‍य जरूरतों के लिए डिस्ट्रिक्‍ट मिनेरल फंड का उपयोग करने की आजादी राज्‍य सरकारों को दी जाएगी। कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए भी इस फंड का उपयोग किया जाएगा।

*किसान,मनरेगा किसान, गरीब विधवा, गरीब पेंशनधारी और जन-धन अकाउंट धारी महिलाओं, उज्ज्वला योजना की लाभार्थी महिलाएं, स्वंय सेवा समूहों की महिलाओं और संगठित क्षेत्र के कर्मचारियों, कंस्ट्रक्शन से जुड़े मजदूरों की प्रधानमंत्री गरीब कल्याण धन योजना के अंर्तगत मदद की जाएगी।

* जिस कंपनी में वर्कर्स की संख्या 100 से कम है,और जिन वर्कर्स की इनकम 15,000/- से भी कम है सरकार 3 महीनों तक उन वर्कर्स के EPFO खाते में वर्कर्स और कंपनी की तरफ से 12-12% का योगदान करेगी। इसका लाभ लगभग 80 लाख से ज्‍यादा मजदूरों को मिलेगा।

Pradhan Mantri Garib Kalyan Anna Yojana FAQs:

1. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत क्या मनरेगा कर्मियों के लिए भी कुछ शामिल किया गया है?

मनरेगा कर्मियों के लिए सरकार ने 1 अप्रैल 2020 से उनका दैनिक वेतन 182/-रूपये बढाकर 202 रुपये कर दिया है। यानि 20/- दैनिक वेतन में वृद्धि की है।

2. अनाज और दालें क्या बिलकुल मुफ्त में मिलेंगी और कितनी?

सरकार ने पहले जून 2020 तक 5 किलो अनाज या चावल और 1 किलो दाल बिलकुल मुफ्त देना का ऐलान किया था,परन्तु इस अवधि की बढ़ा कर नवंबर कर दिया गया था। उसके काफी कम ही कम मूल्य पर अनाज, चावल और दालें मिलेंगी।

3. गरीब कल्याण योजना से किन किन  प्राप्त ही रहा है इसकी लिस्ट कैसे चेक करें?

लाभार्थीयों की लिस्ट के लिए सरकार की तरफ से किसी भी प्रकार की कोई जानकारी उपलब्ध नहीं कराई गयी है।

4. इस योजना से महिलाओं का क्या फायदा होगा?

सभी महिला जन धन खाता धारकों को सरकार ने अगले 3 महीने तक 500 रूपये देना का निर्णय लिया है।

5. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

 सरकार द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार इस योजना का लाभ लेने के लिए किसी प्रकार के आवेदन अथवा पंजीकरण की कोई जरूरत नहीं है।

6. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंर्तगत कौन-कौन शामिल है?

बीपीएल श्रेणी से सम्बन्ध रखने वाले या जिनकी वार्षिक आय काफी कम है जैसे: दिहाड़ी मजदूर, जन धन योजना के सभी लाभार्थी आदि ,इस योजना के अंर्तगत आते है।

अपने दोस्तों के साथ शेयर करें:

Leave a Comment